जिंदगी से प्यार ….

दोस्तों जिंदगी एक रंगीन किताब की तरह हैं ,उसे दिल से पढ़ो । जिंदगी एक अभिलाषा भी हैं ,खुशी से संवर जाये तो जन्नत हैं । जिंदगी एक सुहावना सफर हैं ,हम हर समय क्यूँ डरे कि  जिंदगी मे आगे क्या होगा या बुरा ही होगा । इस दुनिया में हम कर्मो के हिसाब से…

फ़ादर डे # Quote

#Father’s #Day (पिता को याद करने का दिन) #Ratnavachan… बुद्धि के जंगल में बेटे को गुम हो जाने से रोकने की गज़ब की समता पिता में होती है अनाथाश्रमो की संख्या शायद नहीं बढ़ रही है परंतु वृद्धाश्रमो की संख्या तो प्रतिदिन बढ़ रही है । इच्छा है कि पिता को याद करने का आज…

रिश्ते # अच्छे विचार # Quote

है जिनके पास अपने , वो अपनो से झगड़ते है नही जिनका कोई अपना , वो अपनो को तरसते है Have a grateful day आपकी आभारी विमला विल्सन मेहता जय सच्चिदानंद 🙏🙏

कोई बता सकता है कि website की theme के लिये कौनसा area best है ?

Quotes # 222,223,224,225,226

आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Pls follow my old website address Www.writervimlamehta.com

Pls follow my old website address Www.writervimlamehta.com

जिंदगी की किताब (पन्ना # 363)

🔸ज़िन्दगी की भागदौड़ में उम्र कैसे बीत गई पता ही नही चला यारों 🔸उंगली पकड़ कर चढ़ने वाले बच्चे कंधे तक कब आ गए पता ही नहीं चला 🔸साइकिल के पैडल ,स्कूटर की किक मारते मारते कैसे कारों में सैर करने लगे पता ही नहीं चला 🔸कभी हम थे माँ बाप की जिम्मेदारी, आज हम…

Quote #221

कसम से दुनिया में धोखा आम बात हो गयी है 😏😏 सूरज को ही देख लो आता है किरण के साथ रहता है रोशनी के साथ और जाता है संध्या के साथ दूसरे दिन भड़क गयी वर्षा तो छिप गया जाकर कहीं मेघा के साथ आपकी आभारीविमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

Quote # 220

औरत का दर्द चाहे बोले या ना बोले 😄😄 काम करुं तो सांस फूल जाती है और बैठ जाऊ तो सास फूल जाती है और कुछ ना करुँ तो खुद फूल जाती हूँ 😂😂😂😂 आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

हाथ से भोजन करने का वैज्ञानिक कारण # जिंदगी की किताब (पन्ना # 343)

आजकल कई लोग पाश्चात्य सभ्यता का अनुकरण करते हुये हाथ से भोजन करने की बजाय चम्मच कॉटे छुरी का इस्तेमाल करते है व इसमे अपनी शान समझते है । लेकिन हमारे बुज़ुर्ग लोगो ने भोजन करने के लिये चम्मच कांटे की बजाय हाथ से भोजन करने को ज्यादा महत्व दिया । हाथ से भोजन करने…

Quote # 219

दो चम्मच हँसी और चुटकी भर मुस्कान बस यही खुराक है व ख़ुशी की पहचान आपकी आभारी विमला विल्सन जय सच्चिदानंद 🙏🙏

आओ कुछ ऐसा करे # जिंदगी की किताब (पन्ना # 363)

प्रेरक कथा आओ कुछ ऐसा करे …. रामू मिल का चौकीदार था ,उसकी ये खासियत थी कि वह मिल मे काम करने वाले हर व्यक्ति को कभी भी आते जाते समय good morning या good night या सलाम , नमस्ते जरूर करता ,चाहे वह आदमी कोई भी पद पर हो । उसका ऐसा heartily बोलना…